Registration of Contractors


यू0पी0 प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लिमिटेड में ठेकेदारों के पंजीकरण/नवीनीकरण हेतु नियम व शर्तें

  • ठेकेदारों को रजिस्ट्रेेशन फार्म, एवं नियम व शर्तें इत्यादि सभी पर हस्ताक्षर करके देना होगा।
  • नवीनीकरण हेतु ठेकेदारों को रजिस्ट्रशन अवधि समाप्त होने से पूर्व आवेदन करना होगा।
  • सिविल निर्माण कार्यों हेतु विभिन्न श्रेणी में पंजीकरण फार्म/ठेकेदार निम्नानुसार अंकित मूल्य तक कार्य लेने हेतु अधिकृत है-
क्र0सं0 श्रेणी शुल्क
श्रेणी-A No Limits
श्रेणी-B 500.00 लाख तक
श्रेणी-C 200.00 लाख तक
श्रेणी-D 50.00 लाख तक
  • रजिस्ट्रेशन शुल्क, नवीनीकरण शुल्क, जनरल सिक्योरिटी एवं हैसियत का विवरण
क्र0सं0 श्रेणी रजिस्ट्रेशन शुल्क/नवीनीकरण शुल्क (डिमाण्ड ड्राफ्ट के रूप में) जनरल सिक्योरिटी हैसियत
श्रेणी-ए रू0 10000.00+जीएसटी (18 प्रतिशत अथवा जैसा लागू हो) रू0 5.00 लाख की एफ0डी0आर0 राष्ट्रीयकृत बैंक की जिलाधिकारी/राष्ट्रीयकृत बैंक द्वारा निर्गत रू0 125.00 लाख
श्रेणी-बी रू0 8000.00+जीएसटी (18 प्रतिशत अथवा जैसा लागू हो) रू0 2.00 लाख की एफ0डी0आर0 राष्ट्रीयकृत बैंक की जिलाधिकारी/राष्ट्रीयकृत बैंक द्वारा निर्गत रू0 50.00 लाख
श्रेणी-सी रू0 7000.00+जीएसटी (18 प्रतिशत अथवा जैसा लागू हो) रू0 1.00 लाख की एफ0डी0आर0 राष्ट्रीयकृत बैंक की जिलाधिकारी/राष्ट्रीयकृत बैंक द्वारा निर्गत रू0 12.50 लाख
श्रेणी-डी रू0 5000.00+जीएसटी (18 प्रतिशत अथवा जैसा लागू हो) रू0 0.50 लाख की एफ0डी0आर0 राष्ट्रीयकृत बैंक की जिलाधिकारी/राष्ट्रीयकृत बैंक द्वारा निर्गत रू0 6.50 लाख
  • निर्धारित रजिस्ट्रेशन शुल्क आवेदन की गई श्रेणी के अनुसार देय होगा। रजिस्ट्रेशन शुल्क की धनराशि डिमाण्ड ड्राफ्ट जो यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 के पक्ष में लखनऊ में देय हो के रुप में मान्य होगी।
  • जनरल सिक्योरिटी, राष्ट्रीयकृत बैंक की एफ0डी0आर0 की परिपक्वता जो यू0पी0 प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 के नाम प्लेज हो संलग्न करना होगा। एफ0डी0आर0 की परिपक्वता 3 वर्ष की होनी चाहिए।
  • प्रत्येक श्रेणी के ठेकेदारों के लिए निम्नानुसार तकनीकी स्टाफ होना चाहिए।
क्र0सं0 श्रेणी-ए श्रेणी-बी श्रेणी-सी श्रेणी-डी
एक ग्रेजूएट सिविल इंजीनियर एक ग्रेजूएट सिविल इंजीनियर - -
दो डिप्लोमा होल्डर सिविल एक डिप्लोमा होल्डर सिविल एक डिप्लोमा होल्डर सिविल -
  • तकनीकी स्टाफ का विवरण परिशिष्ट-ड़ के अनुसार दर्शाया जाना चाहिए।
  • पंजीकृत ठेकेदारों को यू0 पी0 प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 द्वारी निर्धारित नियमों से विपरीत आचरण करने पर जैसे कि कार्य की गुणवत्ता खराब करना, फिनिशिंग ठीक ना करना, विभागीय कर्मचारियों/अधिकारियों से अभद्र व्यवहार करना आदि पर फर्म को काली सूची में दर्ज करने, युक्तियुक्त अर्थदण्ड लगाने तथा निविदाओं में प्रतिभाग करने से रोक लगाने का अधिकार यू0पी0 प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 के अधिकारियों को होगा।
  • आवेदक को इस आशय का शपथ पत्र देना होगा कि फर्म के किसी भी पार्टनर का निकट का रिस्तेदार (ब्लड रिलेशन) यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 कें कार्यरत नहीं है। ब्लड रिलेशन का अर्थ पिता, मां, भाई-बहन, चाचा-ताऊ, बेटी व पत्नि इत्यादि से है। यदि पंजीकरण के उपरान्त इसके विपरीत तथ्य पाया गया तो ठेकेदार का नाम काली सूची में डाल दिया जायेगा।
  • आवेदक को जिला मजिस्ट्रट द्वारा निर्गत चरित्र प्रमाण पत्र (परिशिष्ट-च के अनुसार) संलग्न करना होगा।
  • आवेदक को जिला मजिस्ट्रट/राष्ट्रीयकृत बैंक द्वारा निर्गत हैसियत प्रमाण पत्र (परिशिष्ट-च के अनुसार) संलग्न करना होगा।
  • प्रमाण पत्रों के साथ चस्पा की जाने वाली फोटो किसी राजपत्रित अधिकारी/नोटरी से प्रमाणित होनी चाहिए।
  • यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 से सम्बन्धित सभी कार्यवाही जैसे निविदा क्रय, अनुबन्ध एवं देयक आदि पर हस्ताक्षर सम्बन्धित ठेकेदार एवं उसके द्वारा अधिकृत जो कोई एक व्यक्ति ही करेगा, शपत पत्र देना होगा।
  • वांछित अभिलेक, आवेदन पत्र के साथ न जमा करने पर अथवा किसी कारणों से आवेदन पत्र निरस्त करने का अधिकार यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 के अधिकारियों को होगा।
  • पंजीकरण/नवीनीकरण के आवेदन पत्र को बिना कारण बताये रद्द करने का अधिकार यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 रखता है।
  • पंजाकृत ठेकेदार को यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 द्वारा भविष्य में भी समय-समय पर जारी किये गये आदेश मानने होंगे।
  • ठेकेदारों द्वारा आयकर विभाग में विगत तीन वर्षों के आयकर रिटर्न की प्रति संलग्न की जाये।
  • विगत तीन वर्षों की बैलेंस शीट चार्ट्ड एकाउन्टेंट से प्रमाणित प्रति देना होगा।
  • (1) श्रेणी-ए के ठेकेदारों को कम से कम चार वर्ष का लगातार सिविल कार्य करने का अनुभव प्रमाण पत्र देना होगा तथा सिविल निर्माण/विकास कार्य हेतु पिछले चार वर्षों में कम से कम रू0 500.00 लाख के कार्यों केसंतोषजनक सम्पादन का राजकीय विभागों/राजकीय संस्थाओं/सार्वजनिक उपक्रमों का प्रमाण पत्र देना होगा।
  • (2) श्रेणी-बी के ठेकेदारों के लिए कम से कम 4 वर्ष का लगातार सिविल कार्य करने का अनुभव प्रमाण पत्रदेना होगा तथा सिविल निर्माण/विकास कार्य हेतु पिछले चार वर्षों में कम से कम रू0 200.00 लाख के कार्यों के संतोषजनक सम्पादन का राजकीय विभागों/राजकीय संस्थाओं/सार्वजनिक उपक्रमों का प्रमाण पत्र देना होगा।
  • (3) श्रेणी-सी के ठेकेदारों के लिए कम से कम 4 वर्ष का लगातार सिविल कार्य करने का अनुभव प्रमाण पत्र देना होगा तथा सिविल निर्माण/3विकास कार्य हेतु पिछले चार वर्षों में कम से कम रू0 50.00 लाख के कार्यों के संतोषजनक सम्पादन का राजकीय विभागों/राजकीय संस्थाओं/सार्वजनिक उपक्रमों का प्रमाण पत्र देना होगा।
  • (4) श्रेणी-डी के ठेकेदारों के लिए कम से कम 4 वर्ष का लगातार सिविल कार्य करने का अनुभव प्रमाण पत्र देना होगा तथा सिविल निर्माण/विकास कार्य हेतु पिछले चार वर्षों में कम से कम रू0 25.00 लाख के कार्यों के संतोषजनक सम्पादन का राजकीय विभागों/राजकीय संस्थाओं/सार्वजनिक उपक्रमों का प्रमाण पत्र देना होगा।
  • (5) यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 में पंजीकृत फर्मों का नवीनीकरण किये जाने या आगे की अवधि हेतु वैधता बढ़ाने के लिये फर्म को गत वर्ष में किये गये सिविल निर्माण कार्यों/सार्वजनिक उपक्रमों का प्रमाण पत्र देना होगा।
  • (6) आवेदन फार्म के साथ ही समस्त औपचारिकताएं पूर्ण करायी जायेगी। अपूर्ण आवेदन पत्र निरस्त माना जायेगा।
Note: उपरोक्त वर्णित राजकीय विभागों/राजकीय संस्थाओं/सार्वजनिक उपक्रमों के द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र में किये गये कार्यों का संतोषजनक रूप से पूर्ण होने का उल्लेख होना चाहिए, जिसकी पुष्टि सम्बन्धित विभाग से आवश्यकतानुसार की जायेगी।
  • ठेकादारों का पंजीकरण केवल दो वर्षों के लिए किया जायेगा। पंजीकृत ठेकेदारों के नवीनीकरण हेतु चरित्र प्रमाण पत्र, हैसियत प्रमाण पत्र तथा किये गये कार्यों को संतोषजनक ढंग से पूर्ण किये जाने का प्रमाण पत्र संलग्न करना होगा।
  • यदि कोई फर्म किन्हीं कारणों से यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 द्वारा ब्लैक लिस्ट की जाती है तो उस फर्म का स्वामी या पार्टनर किसी अन्य फर्म का पार्टनर या स्वामी है तो वह फर्म भी ब्लैकलिस्ट स्वतः हो जायेगी।
  • राज्य बार काउंसिल में पंजीकृत कोई भी अधिवक्ता ठेकेदारी के पंजीकरण/नवीनीकरण हेतु पात्र ही है। कार्य का अनुबन्ध गठित होने के बाद भी यदि उक्त तथ्य संज्ञान में आता है तो समाधान एवं संतुष्ठि की दशा में ऐसे पंजीकरण/अनुबन्ध को प्रबन्ध निदेशक अथवा उनके द्वारा नामित अधिकारी द्वारा सकारण आदेस प्रख्यापित कर त्तकाल निरस्त कर दिया जायेगा।
  • ऐसे व्यक्ति/फर्म/कम्पनी जो किसी अन्य विभाग में ब्लैकलिस्टेड का श्रेणी में आते हैं, को भी कोई ठेका स्वीकृत नहीं किया जायेगा। इस श्रेणी के आवेदक पंजीकरण/नवीनीकरण हेतु पात्र नहीं हैं।
  • किसी भी ठेकेदार को ठेका दे दिये जाने के बाद भी यदि कोई तथ्य प्रमाणित होता है कि संबंधित ठेकेदार/फर्म/कम्पनी द्वारा अन्य सम्भावित निविदाकर्ताओं को धमकाया गया है अथवा उन्हें प्रक्रिया में भाग लेने एवं टेण्डर डालने से रोका गया है अथवा यह पाया गया है कि संबंधित ठेकेदार/व्यक्ति सक्रिय रूप से मफिया गतिविधियों, असमाजिक कार्यों एवं संगठित अपराधिक गतिविधियों में लिप्त है, ते जिलाधिकारी अथवा पुलिस से जाँच रिपोर्ट प्राप्त करने के उपरान्त उसे प्रदान किया गया अनुबन्ध या ठेका निरस्त कर दिया जायेगा।
  • किसी भी विवाद के निस्तारण का अधिकार प्रबन्ध निदेशक, यू0पी0प्रोजेक्ट्स कारपोरेशन लि0 को होगा तथा प्रबन्ध निदेशक द्वारा लिया गया निर्णय अंतिम व मान्य होगा।
  • उक्त नियम व शर्तों के अन्तर्गत किसी भी विवाद के निस्तारण का क्षेत्राधिकारी लखनऊ स्थित न्यायालय का होगा।
  • किसी ठेकेदार द्वारा किसी अन्य ठेकेदार को सब लेट किये गये कार्य का अनुभव स्वीकार नहीं होंगे।
  • इलेक्ट्रिक कार्य, फायर फायटिंग कार्य एवं एंटी टर्माइट ट्रीटमेंट इत्यादि कार्य इस क्षेत्र में दक्ष (लाइसेंसधारी) एजेन्सियों के माध्यम से कराना होगा।